Thursday, June 17, 2021
Homeomg facts about indiaविज्ञान से जुड़ी बुद्धिमान बातेंं: विज्ञान के आश्चर्यजनक तथ्य | Scientific Facts...

विज्ञान से जुड़ी बुद्धिमान बातेंं: विज्ञान के आश्चर्यजनक तथ्य | Scientific Facts in Hindi

विज्ञान के आश्चर्यजनक तथ्य | Scientific Facts in Hindi

1:- मोर नाचता है उसके बाद उसके आंसू गिरते हैं, इन आंसुओं को मोरनी पीती है जिससे वह गर्भवती हो जाती है, क्यों यह सच है ?

यह सच नहीं है। वैसे शक ठीक है। अधिक विकसित प्राणियों में प्रजनन लैंगिक होता है। समाज में लैंगिक प्रजनन को लेकर सामान्य तौर पर झिझक है। इस मूल जैविक प्रक्रिया को गंदा या अश्लील माना जाता है और इसके बारे में बात करने पर भी बंधन है। इसी कारण मादा के गर्भवती होने के कई अलैंगिक कारण दिए जाते है। मोरनी के बारे में भी यह इसी तरह की एक गलत धारणा है।

लैगिक प्रजनन में मादा के शरीर में अंडाणुओं का निषेचन नर के शरीर में बने शुक्राणुओं द्वारा होना आवश्यक है। निषेचन के बाद ही सम्पूर्ण अण्डा बनता है। जिससे धीरे – धीरे नए प्राणी का विकास होता है। ये अण्डाणु और शुक्राणु प्राणियों के शरीर में उपस्थित विशेष अंगों में बनते हैं। ये दोनों सामान्य कोशिकाओं से भिन्न होते हैं। इनका विकास प्राणियों के प्रजनन तंत्र से जुड़े अंगों से ही हो सकता है। हर अंग से नहीं।

बुद्धिमान तथ्यों

2:- बिजली किस प्रकार चमकती है एवम् गर्जना किस प्रकार होती है ?

जब आकाश में बादल छाए होते हैं तो उनमें उपस्थित पानी के छोटे – छोटे कण वायु की रगड़ के कारण अवेशित हो जाते हैं। कुछ बादलों पर धनात्मक आवेश आ जाता है और कुछ पर ऋणात्मक आवेश। जब एक धनात्मक आवेशित बादल ऋणात्मक आवेशित बादल के पास पहुंचता है तो उनके बीच में लाखों वोल्ट का विद्युत विभवान्तर पैदा हो जाता है। इतने अधिक विभवान्तर के कारण इनके बीच की वायु में विद्युत धारा बहने लगती है। जैसे ही विद्युत धारा बहती है वैसे ही प्रकाश की एक रेखा – सी पैदा होती है। इसी हम बिजली का चमकना कहते हैं।

विद्युत धारा के कारण बहुत अधिक गर्मी पैदा होती है। जिससे वायु एकदम फैलती है। अचानक फैलाव के कारण वायु के असंख्य अणु एक – दूसरे से टकराते हैं इनके टकराने से पैदा हुई आवाज से ही गर्जना होती है।

विज्ञान के आश्चर्यजनक तथ्य

3:- पृथ्वी गतिशील है फिर भी स्थिर मालूम पड़ती हैं, ऐसा क्यों ?

पृथ्वी लगातार अपनी धुरी पर घूमती रहती है। ऐसा नहीं हैं कि हमें पृथ्वी की गति का पता नहीं लगता l। दिन में सूर्य की बदलती हुई स्थिति से हमें पृथ्वी की गति आभास होता है। पृथ्वी का घूमना हमें महसूस इसलिए नहीं होता क्योंकि पृथ्वी बराबर एक – सी गति से घूम रही है। किसी भी वस्तु की गति का पता उसकी गति में आने वाले परिवर्तन से होता है। पृथ्वी का घूमना हमें महसूस इसलिए नहीं होता क्योंकि पृथ्वी बराबर एक – सी गति से घूम रही है। किसी भी वस्तु की गति का पता उसकी गति में आने वाले परिवर्तन से होता है। पृथ्वी की गति में परिवर्तन न होने के कारण ही हमें ऐसा लगता है और हमारा अस्तित्त्व भी पृथ्वी से तुलना में कण मात्रा से कम है।

रसायन विज्ञान के रोचक तथ्य

4:- साप के कान नहीं होते और वे सुन नहीं सकते, क्या यह सही है ?

यह बात सत्य है कि साप के कान नहीं होते और न ही वे सुन सकते हैं। साप रेंगकर चलता है। रेंगते समय सारा शरीर जमीन के सम्पर्क में आ जाता है। शरीर की त्वचा में कई तंत्रिकाएं होती हैं जो बहुत संवेदनशील होती हैं। ये जमीन में चलने वाले हल्के – से – हल्के कम्पनों को भी पहचान लेती हैं। उसकी संवेदनशील त्वचा और उसकी कम्पन पहचानने की शक्ति उसके सुरक्षा साधन है। जब कोई मनुष्य या अन्य प्राणी जमीन पर चलते हैं तो सांप उनके पैरों से उत्पन्न कम्पनों को सुनकर एक तरफ हो जाता है ताकि कुचल न् जाए।

विज्ञान रोचक तथ्य

5:- पुरुषों की दाढ़ी में बाल आते हैं परन्तु औरतों की दाढ़ी में बाल क्यों नहीं आते ?

ग्यारह से तेरह वर्ष की उम्र के वयस्क छोटे बच्चों में यौन ग्रंथियों का विशेष विकास होता है। इस उम्र में पुरुषों के यौन ग्रंथिया एन्ड्रोजन हार्मोन पैदा करती हैं। जो दाढ़ी और छाती के बालों में वृद्धि करते हैं। जबकि स्त्रियों की यौन ग्रंथियां एन्ड्रोजन की बजाए एस्ट्रोजन हर्मोन पैदा करती हैं। इसी वजह से पुरुषों में दाढ़ी होती है स्त्रियों में नहीं।

भौतिक विज्ञान के रोचक तथ्य

6:- गंगा जल क्यों नहीं सड़ता है ?

गंगा नदी हिमालय स्थित गंगोत्री से निकलती है। वहां से यह कुछ विशेष खनिज पदार्थ गंधक आदि अपने साथ बहाकर लाती है । गंगा के पानी में मिले हुए ये खनिज पदार्थ गंगा के पानी को सड़ने से बचाते हैं।

विज्ञान के रोचक प्रयोग

7:- हमें जम्हाई क्यों आती है ?

बहुत देर तक एक ही स्थिति में बैठे रहने से या अत्याधिक परिश्रम वाला कार्य करने पर थकान के कारण एक लम्बे समय के बाद हमारे शरीर में श्वसन की धीमी गति के कारण ऑक्सीजन की मात्रा में कमी आती जाती है। ऑक्सीजन की इस कमी को पूरा करने के लिए ही हमें जम्हाई आती हैं। जम्हाई आते समय हमारा मुह एकाएक खुल जाता है और एक लम्बी – सी सांस अन्दर लेते हुए हम सांस बाहर को छोड़ते हैं। इस क्रिया से हम पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन अपने शरीर के अन्दर ले जाते है तथा उतनी ही कार्बन डाइआक्साइड बाहर निकालते हैं।

यह स्पष्ट है कि जम्हाई का सम्बन्ध नींद आने या थकने से बिल्कुल नहीं है। जम्हाई का अर्थ है शरीर में ऑक्सीजन की कमी। जब काफी समयान्तर पश्चात आती है जिससे फेफड़ों के फुफ्फुस कोष शुद्ध वायु से भर जाते हैं और रूधिर ऑक्सीजन युक्त हो जाता है। जम्हाई आने पर उसे रोकना असंभव है। एक मजेदार बात तो यह है कि जम्हाई संक्रामक भी हो सकती है। यह एक आम अनुभव की बात है कि एक – दूसरे की जम्हाई स्वतः आने लगती है लेकिन ऐसा क्यों होता है इसके स्पष्ट कारण की तलाश है

जीव विज्ञान के रोचक तथ्य

8:- मानव को बुढापा क्यों आता है ?

बच्चे के जन्म के समय उसके शरीर के सभी अंग नए होते हैं। समस्त जैविक प्रक्रियाएं तेजी से चलती हैं। लेकिन उम्र बढ़ने के साथ – साथ मानव में जीव वैज्ञानिक परिवर्तन होने लगते हैं जिन्हें रोका नहीं जा सकता। इन्हीं परिवर्तनों की वजह से उम्र बढ़ने पर बहुत – सी शारीरिक क्रियाएं धीमी पड़ जाती हैं, नजर कमजोर हो जाती है और बाल सफेद होने लगते हैं। इन्हीं कारणों से मानव को बुढ़ापा आता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments